'भगोड़ी' घोषित हुई 90s की मशहूर अदाकारा ममता कुलकर्णी !

अंतरराष्ट्रीय एफीड्रीन आपूर्ति रैकेट की जाँच कर रही ठाणे पुलिस की अपराध शाखा ने बॉलीवुड की पूर्व अभिनेत्री ममता कुलकर्णी और उनके साथी एवं नशीले पदार्थों के कुख्यात तस्कर विकी गोस्वामी को आज ‘‘फरार अपराधी’’ घोषित कर दिया। मुख्य जाँच अधिकारी सहायक पुलिस आयुक्त भरत शेलके ने कहा कि अपराध शाखा के अधिकारियों की एक टीम मुंबई के उपनगर वर्सोवा में स्काई एन्क्लेव में कुलकर्णी के घर पहुँची और दरवाज़े पर उसके भगोड़ा होने का नोटिस चिपका दिया।

अहमदाबाद में गोस्वामी के घर पर भी ऐसा ही नोटिस चिपका दिया गया। शेलके ने कहा, ‘‘अगर दोनों आरोपी दी गई अवधि के भीतर ठाणे पुलिस के समक्ष पेश होने में नाकाम रहे तो हम अदालत की अनुमति लेकर उनकी संपत्ति ज़ ब्त करने की प्रक्रिया शुरू करेंगे।’’ मार्च में ठाणे की जिला अदालत ने कथित अंतर्राष्ट्रीय ड्रग माफिया विक्की गोस्वामी और उसकी सहयोगी और एक्ट्रेस ममता कुलकर्णी के ख़िलाफ़ एफेड्रिन बरामदगी मामले में गैर ज़मानती वॉरेंट जारी किया था। माना जाता है कि ममता और उनका साथी भारत से बाहर हैं।

'भगोड़ी' घोषित हुई 90s की मशहूर अदाकारा ममता कुलकर्णी !

ठाणे पुलिस ने वर्ष 2016 में सोलापुर में एवोन लाइफसाइंस पर छापा मारा था और वहाँ से दो हजार करोड़ रूपए कीमत का करीब 18.5 टन एफेड्रिन बरामद किया था। पुलिस के अनुसार एफेड्रिन एवोन लाइफसाइंस से केन्या स्थित गोस्वामी के नेतृत्व वाले मादक पदार्थ गिरोह को भेजा जाने वाला था। पुलिस ने इस मामले में 10 से अधिक व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है।

ममता पिछले कुछ साल से अपने पति और व्यापार साझेदार विकी गोस्वामी के साथ केन्या में रह रही हैं। उनके पति भी इस मामले में सह-आरोपी हैं। बता दें कि विकी गोस्वामी गुजरात के एक पुलिस अफसर का बेटा है। विकी ने 80 के दशक में जुर्म की दुनिया में कदम रखा। करीब दो दशकों में वह अपना नेटवर्क दुबई से लेकर अफ्रीका तक फैला चुका है। भारत में विकी का नाम उस केस से जुड़ा है जिसमें सोलापुर फार्मा युनिट से बड़ी मात्रा में मेथामफेटामाइन बरामद हुआ था।