'जब तक आप रोमांस और ट्रेजेडी नहीं करते हैं, तब तक आपको बेस्ट एक्टर का अवार्ड नहीं मिलता’': अक्षय कुमार

ऐसा सिर्फ़ अक्षय कुमार के जैसा महान इंसान ही कर सकता है जो अपने एकमात्र अवार्ड को लेने से मना कर दे और अपने कंटेम्पररी को सिर्फ़ इसलिए सौंप दे कि वह इसको ज़्यादा डीसर्व करता है। खिलाड़ी स्टार ने इतने लंबे समय से कॉमेडी फिल्मों के माध्यम से हम सभी का मनोरंजन किया है लेकिन दुर्भाग्य से एक अवार्ड भी वह अपनी झोली में डालने में सक्षम नहीं हो पाए। जब उन्हें सिंह इज़ किंग के लिए बेस्ट एक्टर का स्टार स्क्रीन अवार्ड दिया जाने लगा, तो उन्होंने उसे लेने से मना कर दिया और उसी समय रिलीज़ हुई फ़िल्म गजनी में काम कर चुके आमिर खान को सौंप दिया।

इस मुद्दे के बारे में बात करने के लिए अक्षय कई बार आगे आए हैं और कॉफ़ी विद करण शो में तो उन्होंने यहाँ तक कह दिया कि इंडस्ट्री में अवार्ड्स ख़रीदे जाते हैं। हाल ही में, भी, कॉमेडी रोल्स के लिए फेमस अक्षय ने कहा कि इस जॉनर को देश में सबसे कम इज्ज़त मिलती है। पीटीआई से बात करते हुए , बेबी अभिनेता अक्षय ने कहा, “मैं कॉमेडी प्यार करता हूँ। यह एक मुश्किल शैली है, लेकिन बदकिस्मती से कॉमिक हीरो को इंडस्ट्री में उनका उचित सम्मान नहीं मिलता है क्योंकि हम इसे नीचे देखते हैं। जब तक आप रोमांस और ट्रेजेडी नहीं करते हैं, तब तक आपको बेस्ट एक्टर का अवार्ड नहीं मिलता है। अगर आप लोगों को हँसा कर रहे हैं, तो  यह तमाशा जैसा लगता है। यह बहुत दुःख की बात है कि ऐसा होता है।

"बहुत समय पहले अमिताभ बच्चन सर ने देश प्रेमी में कॉमेडी किया था। वह हीरो के साथ साथ कॉमेडी रोल भी किया करते थे। यहां तक कि किशोर कुमार सर भी ये किया करते थे। बहुत कम लोग हैं जिन्होंने ये किया और बस मैंने भी यही फॉलो किया।” अक्षय ने कहा। स्पेशल 26 स्टार ने ये भी कहा कि उन्हें ये देख कर ख़ुशी है कि फिल्म इंडस्ट्री में कॉमेडियन्स को अच्छी भूमिकाएं मिल रही हैं।  

'जब तक आप रोमांस और ट्रेजेडी नहीं करते हैं, तब तक आपको बेस्ट एक्टर का अवार्ड नहीं मिलता’': अक्षय कुमार