आमिर सोचते हैं कि वह सही है और बाकी दुनिया गलत है: अनुपम खेर

आमिर खान को उनके बयान के लिए सोशल मीडिया और हर जगह जम कर झाड़ मिली, जिसमे उन्होंने असहिष्णुता के मुद्दे पर पत्नी किरण द्वारा देश छोड़ने के सुझाव की बात कही थी। अनुपम खेर, जिन्होंने सुपरस्टार पर सवालों की बौछार कर दी थी, जैसे कि 'अतुल्य भारत' कब से 'असहिष्णु भारत' बन गया, ने एक बार फिर आमिर के ऊपर गुस्से में बरसे हैं कि आमिर को लगता है कि उन्हें लगभग हर चीज़ के बारे में राय रखनी चाहिए। अनुभवी अभिनेता ने आगे ‘दिल है की मानता नहीं’ की शूटिंग के समय का एक उदाहरण का हवाला देते हुए कहा कि ‘पीके’ एक्टर, तबभी, उन्हें अपने किरदार के इंटरप्रेटेशन से परेशानी थी।

"मुझे किसी के साथ कोई समस्या नहीं है। वे सभी मेरे दोस्त हैं। आमिर भी एक दोस्त है और हमने कई फ़िल्म एक साथ की हैं जैसे दिल', ' दिल है की मानता नहीं' लेकिन उस समय वह ‘आमिर खान' नहीं थे। उसके बाद, पिछले कुछ सालों में उन्होंने खुद को कल्टीवेट किया और आमिर खान बन गया। उसके बाद उन्होंने सोचा उन्हें हर बात पर अपनी राय रखनी चाहिए...चाहे वह एआईबी का विवाद हो, या यह (असहिष्णुता) वाली बात ओर कुछ और”, खेर ने पीटीआई को बताया।

60 वर्षीय अभिनेता ने आगे कहा कि आमिर को 'दिल है की मानता नहीं' की शूटिंग के दौरान खेर के किरदार के इंटरप्रेटेशन से भी परेशानी थी। “(महेश) भट्ट साहब ने मुझसे कहा आमिर कह रहे हैं कि आपके किरदार का इंटरप्रेटेशन बकवास है। इस किरदार को ऐसे नहीं पेश करना चाहिए...तो, कभी कभी लोगों की ये आदत होती है कि जो मैं कह रहा हूँ वही सही है और बाकी की दुनिया गलत है”, उन्होंने समझाया।

"मेरे दिल में उनके लिए बहुत सम्मान है, लेकिन मुझे लगता है बड़े स्टारडम के साथ ही जिम्मेदारी की भावना आती है। यह जिम्मेदारी की भावना होना बहुत जरूरी है। मैं उनकी प्रशंसा करता हूँ और इसलिए मैं थोडा उदास हूँ। यह ज़रूरी है कि कभी-कभी उम्मीद दें न की डर फैलाएं”, ‘स्पेशल 26’ अभिनेता ने कहा।

आमिर सोचते हैं कि वह सही है और बाकी दुनिया गलत है: अनुपम खेर

loading..