अमिताभ बच्चन: संगीत के सुरों ने किया था सर्जरी के दर्द को कम

कहते हैं संगीत में इतनी शक्ति होती है कि बिन मौसम बरसात हो जाती है और बुझे दिए भी जल जाते हैं। ये बात मेगास्टार अमिताभ बच्चन के लिए बिलकुल सही साबित हुई है। 73 वर्षीय एक्टर ने हाल ही में इस राज़ का खुलासा किया कि ये संगीत की ही ताकत थी जिसने उन्हें कई ऑपरेशन्स के दर्द को सहने का हौसला दिया था।

सुपरस्टार ने पीटीआई से बात करते हुए कबूल किया कि कैसे उन मुश्किल घड़ियों में संगीत ने उन्हें सहारा दिया था। “वो सभी दिन और रातें जो मैंने आईसीयु में और हॉस्पिटल बेड पर गुज़ारे थे, संगीत ही वो चीज़ थी जिसने हमेशा मेरी रक्षा की थी और मुझे जीने की उम्मीद और हौसला दिया था। मेरे पेट की दो लोकल सर्जरी के दौरान मैं अपने कानों में इयरफ़ोन लगाये हुए संगीत सुनता रहा और उन्हें साथ-साथ गुनगुनाता रहा ताकि ऑपरेशन के वक़्त होने वाले टेक्निकल प्रोसीजर्स के साउंड को संगीत की धुन के नीचे दबा सकूँ”, उन्होंने कहा।  

पिकू स्टार को सिर्फ़ संगीत सुनना ही अच्छा नहीं लगता बल्कि उन्हें गाना गुनगुनाना भी बहुत पसंद है। उन्होंने कई बॉलीवुड गीतों को अपनी जादूई आवाज़ से नवाज़ा है। हाल ही में, बिग बी ने अपने शो ‘आज की रात है ज़िन्दगी’ के लिए भी गाया है। इस बारे में बात करते हुए दिग्गज अभिनेता ने कहा, “AKRHZ का हर एक एपिसोड मेरे द्वारा गाये हुए गाने या फिर कभी-कभार मेरे कंपोज़ किये हुए गाने के साथ शुरू होगा, ताकि माहौल को ऐसा बनाया जा सके जैसा हम दूसरों के लिए चाहते हैं...मेरा मानना है संगीत ज़बरदस्त दर्दनाशक होता है, सिर्फ़ आत्मा के लिए ही नहीं वरन शरीर के लिए भी।”

अमिताभ बच्चन: संगीत के सुरों ने किया था सर्जरी के दर्द को कम
टैग्स

Amitabh Bachchan