सोलो फिल्मों से डर लगता है: अरशद वारसी

ज़्यादातर एक्टर जहां सिंगल-लीड फ़िल्में करना चाहते हैं वहीँ अरशद वारसी सबसे अलग है। इस एक्टर का कहना है कि उन्हें ऐसी फ़िल्में करना पसंद नहीं है जो उनके इर्दगिर्द घूमे क्योंकि अगर वो फ़िल्में फेल हुई तो सारा दोष उन पर आ जायेगा। उन्होंने आगे कहा कि वो मल्टी-स्टारर फ़िल्में करना चाहते हैं पर बदकिस्मती से कोई उन्हें ऐसे ऑफर नहीं देता।

इस 'जॉली एलएलबी' स्टार ने कहा, "बदकिस्मती से कोई मुझे मल्टी-स्टारर फ़िल्में नहीं ऑफर करता। मुझे उनमें काम करना पसंद है क्योंकि इससे फिल्म का बोझ सिर्फ मुझ अकेले पर नहीं रहता। सोलो लीड फिल्म अगर फेल होती है तो सारी ज़िम्मेदारी मुझ पर आ जाती है। मुझे सोलो फिल्मों से डर लगता है पर जब ऐसे ऑफर आते है तो में मन भी नहीं कर पता अगर स्क्रिप्ट अच्छी लगे तो।"

अभी तक इस एक्टर ने जितनी फिल्मे की है उसमें उनका काम सबने पसंद किया है। पर बदकिस्मती से उनके पास ज़्यादा फ़िल्में ही नहीं है। दरअसल अरशद खुद मानते हैं कि सही वक़्त पर उन्होंने सही फ़िल्में करना नहीं चुना।

सोलो फिल्मों से डर लगता है: अरशद वारसी