'अ स्टोरी ऑफ़ अ टाइग्रेस बेटी’ है साइना नेहवाल की बायोपिक, अमोल गुप्ते का है कहना

भारतीय बैडमिंटन चैंपियन साइना नेहवाल, जो ओलंपिक में बैडमिंटन में पदक जीतने वाली पहली भारतीय रही हैं, पर एक बायोग्राफिकल फ़िल्म बन रही है और फ्रंट फुट पिक्चर्स प्राइवेट लिमिटेड ने फिल्म के लिए अधिकार हासिल कर लिए हैं। फ़िल्म को अमोल गुप्ते द्वारा डायरेक्ट किया जाएगा और सुजय जयराज द्वारा सह-निर्देशन किया जायेगा। गुप्ते ने कहा है कि फ़िल्म एक ‘टाइग्रेस बेटी’ की कहानी है।

सुजय जयराज ने एक बयान में कहा, “यह एक बहुत प्रेरणादायक कहानी होने वाली है, जो पूरे देश को बढ़ावा देगी। यह एक मौजूदा खेल स्टार की एक कहानी है और इसलिए दोनों युवा और पुरानी पीढ़ी इससे खुद को रिलेट कर सकते हैं। गुप्ते ने कहा, "इस फिल्म में साइना की धमाकेदार यात्रा का खुलासा होने वाला है कि कैसे उन्होंने खेल पिरामिड के सफ़र को पूरा किया।”

इसके अलावा, गुप्ते का कहना है कि फ़िल्म उन बायोपिक्स से अलग होगी जो लोगों ने अब तक देखी है, और कहा, “कितनी बार हमने एक पुरुष या महिला भारतीय को वर्ल्ड स्पोर्ट में प्राइम रैंकिंग लेते देखा हैं? कोई नहीं - साइना नेहवाल को छोड़कर। यही कारण है जो इसे अलग बनाता है, है ना ? यह एक 'टाइग्रेस बेटी' की कहानी है, ‘प्रिंसेस बेटी’ जिसने अपने पंजों से बैडमिंटन कोर्ट में आग लगा दी थी, जैसा पहले कभी किसी ने नहीं किया था। देश को ‘दुनिया की नंबर 1 बेटी’ के बारे में जानने की ज़रूरत है - युवा और बुजुर्गों के लिए एक आइकन, जो शायद ही फिर मिल पाए।“

'अ स्टोरी ऑफ़ अ टाइग्रेस बेटी’ है साइना नेहवाल की बायोपिक, अमोल गुप्ते का है कहना

loading..