इंदिरा गांधी के बाद, संजय गांधी पर एक बायोपिक की घोषणा

गांधी परिवार, विशेष रूप से संजय गांधी की कहानी एक बार फिर से देश में लोकप्रिय हो रही है। यह फिल्म संजय गांधी के जीवन पर बनाई जाएगी और इसकी पतवार संभाली है शाहिद के लिए नेशनल अवार्ड विनिंग डायरेक्टर हंसल मेहता ने। यह बायोपिक सबसे लोकप्रिय बुक 'द संजय स्टोरी' का रूपांतरण है।

बायोपिक की बात करते हुए हंसल मेहता ने कहा, “विनोद मेहता की बुक शानदार और दिलचस्पी बनाये रखती है, मुश्किल से जजमेंटल और ठोस रिसर्च पर आधारित। यह बुक न सिर्फ़ इंडियन पॉलिटिक्स के विवादास्पद व्यक्ति के हैरान कर देने वाले डिटेल्स पर रोशनी डालती है बल्कि यह हमारे अतीत के उथल-पुथल वाले समय की भी याद दिलाती है। इमरजेंसी और इसके प्रभाव पर हमेशा से मेरी दिलचस्पी रही है।”

उन्होंने आगे कहा, “संजय गाँधी, उनका जीवन और मृत्यु हमेशा रहस्य में डूबा रहा और साथ ही भारत की अपनी आयरन लेडी और उनकी माँ के साथ उनका रिश्ता भी। मुझे इस महत्वपूर्ण फ़िल्म को बनाते हुए चुनौती और खुशकिस्मती दोनों का एहसास हो रहा है।” अब तक फ़िल्म का टाइटल अभी तय नहीं हुआ है। इसके अलावा, ऐसा कहा जा रहा है कि यह फ़िल्म अगले साल फ्लोर पर आ जाएगी।

इंदिरा गांधी के बाद, संजय गांधी पर एक बायोपिक की घोषणा
loading..