इस पिक्टोरियल रिव्यू के ज़रिये जानिए अर्जुन रामपाल की फिल्म 'डैडी' में क्या है ख़ास !

अर्जुन रामपाल की फिल्म 'डैडी' आज से सभी सिनेमाघरों में रिलीज़ हो चुकी है। ये फिल्म मुंबई के गैंगस्टर से पॉलिटिशियन बने अरुण गावली के जीवन के बारे में है। इस फिल्म में एक्टर अर्जुन रामपाल मुख्य भूमिका में हैं और उनके साथ एक्टर निशिकांत कामत, आनंद इंगले और राजेश श्रृंगारपुरे भी हैं। इसके अलावा साउथ की एक्ट्रेस ऐश्वर्या राजेश इस फिल्म में अर्जुन की हीरोइन बनी हैं।

ये कहानी है 1970 के दशक में एक मुंबई के कपड़े के मिल में काम करने वाले व्यक्ति के बेटे की, जो जबरन वसूली, जुए और मर्डर जैसी चीज़ों में पड़कर अंडरवर्ल्ड का जाना-माना चेहरा बना गया। अरुण (अर्जुन) ने अपने दो दोस्तों बाबू (आनंद) और रामा (राजेश) के साथ मिलकर अपना गैंग बनाया था और 70 और 80 के दशक में उसका मुंबई में काफी खौफ़ हुआ करता था। फिल्म में सभी की परफॉरमेंस काफी अच्छी है। लेकिन क्या इस फिल्म में अरुण की ज़िन्दगी को बड़ी तड़क-भड़क के साथ दिखाया गया या फिर जैसे वो असल ज़िन्दगी में हैं वैसे ही फिल्म में ही है? जानने के लिए पढ़िए हमारा पिक्टोरियल रिव्यू -

अर्जुन रामपाल का किरदार अरुण गावली 

अर्जुन रामपाल ने इस फिल्म में कमाल कर दिखाया है। गावली की चाल-ढाल से लेकर, उनके उठने-बैठने और बात करने के स्टाइल को अर्जुन ने खूबसूरती से अपनाया है और वे पूरी तरह एक गैंगस्टर के रूप में जम रहे हैं। भले ही वे सीधे-साधे और मजबूर इंसान की भूमिका में हो या एक निष्ठुर और निडर गैंगस्टर अर्जुन ने हर रूप में कमाल किया है। रेट्रो लुक में अर्जुन काफी हैंडसम भी लग रहे हैं और उनकी परफॉरमेंस काबिल-ए-तारीफ है।

इस पिक्टोरियल रिव्यू के ज़रिये जानिए अर्जुन रामपाल की फिल्म 'डैडी' में क्या है ख़ास !
इस पिक्टोरियल रिव्यू के ज़रिये जानिए अर्जुन रामपाल की फिल्म 'डैडी' में क्या है ख़ास !

फिल्म में क्या है ख़ास?

ये फिल्म गैंगस्टर्स और मर्डर्स से भरी हुई है। फिल्म के चौल, खून-खराबा और किरदारों के बीच की नफ़रत आपका दिल खराब कर देते हैं। फिल्म में कई ऐसे सीन भी हैं जो आपको अपनी सीट से चिपके रहने पर मजबूर कर देते हैं। इस फिल्म को ज़्यादा से ज़्यादा साधारण रखते हुए असल ज़िन्दगी से जोड़े रखा है। इस फिल्म के ज़रिये आपको अरुण गावली की ज़िन्दगी में ज़्यादसे ज़्यादा जानने को मिलेगा।

इस पिक्टोरियल रिव्यू के ज़रिये जानिए अर्जुन रामपाल की फिल्म 'डैडी' में क्या है ख़ास !

फिल्म के एलिमेंट्स

ये फिल्म भावनाओं से भरी हुई है। अर्जुन का दर्द, उनकी मजबूरी, उनकी नफरत और बहुत कुछ आप फिल्म में देखेंगे और महसूस करेंगे। अरुण (अर्जुन) के एक फट्टू लड़के से एक निडर गैंगस्टर बनने तक की कहानी और उसके अलग-अलग स्थितियों में चीज़ें खोने और पाने की कहानी काफी दिलचस्प है। हालांकि मर्डर की साज़िशें कुछ बेहतर तरीके से दिखाई जा सकती थीं। गावली और उनके दोस्तों की दोस्ती देखने लायक है। गावली के पीछे पड़े पुलिस अफसर को देखकर जहां आप इम्प्रेस होंगे वहीं उसके ज़िद्दी व्यवहार को देखकर आपका दिमाग भी खराब हो जायेगा।

इस पिक्टोरियल रिव्यू के ज़रिये जानिए अर्जुन रामपाल की फिल्म 'डैडी' में क्या है ख़ास !

कुल मिलकर अगर आपको क्राइम ड्रामा पसंद है तो ये फिल्म आपको ज़रूर देखनी चाहिए !