क्रिटिक के लिखने पर नहीं चलती है ऑडियंस: इमरान हाशमी

एक्टर इमरान हाशमी की आखरी फिल्म 'हमारी अधूरी कहानी' को फिल्म क्रिटिक ने बहुत बुरा कहा। मोहित सूरी के डायरेक्शन और महेश भट्ट के प्रोडक्शन विशेष फिल्म्स और फॉक्स स्टार स्टूडियो की यह रोमांटिक ड्रामा फिल्म लोगो के दिल और दिमाग पर छाने में बुरी तरह असफल रही। जबकि फिल्म में अच्छी खासी स्टार कास्ट थी और एक्टिंग के पावर हाउस थे जैसे इमरान हाशमी, विद्या बालन और राजकुमार राव। 

हालाँकि इमरान हाशमी को कभी भी इस बात का शक नहीं था की सही लोग इस फिल्म को पसंद करेंगे। उन्होंने कहा कि, "क्रिटिक हमारी ऑडियंस को नहीं बता सकते क्या अच्छा है क्या बुरा है। एक कंस्यूमर सिर्फ मज़ा करने के लिए पैसे देता है। वो उस मिंडसेट से फिल्म देखने नहीं जाता जिस मिंडसेट से एक प्रोफेशनल इंसान जो इस प्रोफेशन से जुड़ा है वो जाता है। अगर क्रिटिक को फिल्म पसंद ना आये तो किसी को कोई फर्क नहीं पड़ता है।" इस 36 साल के एक्टर ने आगे कहा कि, "बहुत सारे क्रिटिक हमारी फिल्मो के साथ बहुत हार्श हो जाते है और पर्सनल भी। क्रिटिक भी कई बार पक्षपाती होते है। ऑडियंस समझ जाती है की कौन पक्षपाती है और कौन नहीं।"

इमरान हाशमी का कहना है कि हो सकता है कुछ लोगो के सेक्शन के लिए यह फिल्म उतनी मज़ेदार ना हो जितनी किसी और के लिए हो। इसका यह मतलब नहीं है कि फिल्म अच्छी नहीं है। रिव्यु चाहे जैसे भी क्यों ना हो अगर आपके दोस्तों को पसंद आती है तो आप उस फिल्म को अपनी फैमिली के साथ देखने ज़रूर जाते है।

क्रिटिक के लिखने पर नहीं चलती है ऑडियंस: इमरान हाशमी