ये पिक्टोरियल रिव्यू आपको बतायेगा कि फिल्म 'हाफ गर्लफ्रेंड' के किरदार और कहानी कैसी है !

चेतन भगत की किताब हाफ गर्लफ्रेंड पर आधारित फिल्म 'हाफ गर्लफ्रेंड, दोस्त से ज़्यादा गर्लफ्रेंड से कम' सिनेमाघरों में आ चुकी है। इस फिल्म से दर्शकों को जितनी भी उम्मीद थी वो सब फ़िलहाल तो टूटती हुई नज़र आ रही हैं। फिल्म की कहानी बिहार के माधव झा के बारे में है जो अपने कॉलेज मेट रिया सोमानी के प्यार में पड़ जाता है। रिया माधव को चाहती है लेकिन उसके साथ कोई रिश्ता नहीं चाहती। अब माधव क्या करेगा और क्या ये दोनों एक हो पाएंगे ये कहानी है।

इस फिल्म के तमाम रिव्यूज़ तो आप पढ़ ही चुके होंगे लेकिन क्या किसी ने आपको बताया कि फिल्म के किरदार यानी अर्जुन कपूर, श्रद्धा कपूर और विक्रांत मसी कैसी हैं और कुल-मिलकर फिल्म में आपको क्या देखने को मिलगा? अगर नहीं, तो परेशान मत होइए जनाब क्योंकि हम आपके लिए लेकर आये हैं ये ख़ास पिक्टोरियल रिव्यू जिसे पढ़कर आपके सभी सवालों के जवाब आपको मिल जायेंगे !

ये पिक्टोरियल रिव्यू आपको बतायेगा कि फिल्म 'हाफ गर्लफ्रेंड' के किरदार और कहानी कैसी है !
अर्जुन कपूर का किरदार माधव झा
अर्जुन ने बिहार के माधव झा का किरदार निभाया है। उनका भोजपुरी बोलने का तरीका और एक्टिंग काफी कमज़ोर नज़र आ रही है। वो एक भावुक और बेवकूफ लड़के बने हैं जो एक लड़की के लिए इतना पागल है कि उसे छोड़ने को तैयार ही नहीं है और पूरा समय 'फिर भी तुमको चाहूँगा' गाता फिर रहा है।
ये पिक्टोरियल रिव्यू आपको बतायेगा कि फिल्म 'हाफ गर्लफ्रेंड' के किरदार और कहानी कैसी है !
श्रद्धा कपूर का किरदार रिया सोमानी
रिया सोमानी के किरदार में श्रद्धा कुछ खास करती नज़र नहीं आ रही हैं। रिया एक ऐसी लड़की है जो गाना चाहती है और अपने जीवन की परेशानियों से दूर भागती है। इसी की वजह से वो हर समय डिप्रेस्ड रहती है।
ये पिक्टोरियल रिव्यू आपको बतायेगा कि फिल्म 'हाफ गर्लफ्रेंड' के किरदार और कहानी कैसी है !
क्या-क्या था फिल्म में?
फिल्म में अर्जुन कपूर और श्रद्धा कपूर के बीच केमिस्ट्री नाम की कोई चीज़ नहीं है। इसके साथ ही फिल्म की कहानी असलियत से कोसों दूर है। श्रद्धा का अंग्रेज़ी गाना कहीं और उनकी लिप्सिंग कहीं और जाती आपको देखने को मिलने वाली है। और तो और फिल्म की एल्बम में यूँ तो 8 गाने हैं, लेकिन पूरी फिल्म में आपको सिर्फ दो ही गाने सुनने को मिलते हैं, जिसमें से एक माधव (अर्जुन) गाता है और एक रिया (श्रद्धा) !
ये पिक्टोरियल रिव्यू आपको बतायेगा कि फिल्म 'हाफ गर्लफ्रेंड' के किरदार और कहानी कैसी है !
तो कैसी रही फिल्म?
कहने को ये फिल्म लव स्टोरी है लेकिन रोमांस नाम की चीज़ इसमें ढूँढ पाना थोड़ा मुश्किल है। इसके साथ ही फिल्म में इतनी परेशानियाँ दिखाई गयी हैं और इतना मेलोड्रामा हुआ है कि सर दर्द होना लाज़मी है। हिंदी और अंग्रेज़ी की दिक्कत के बारे में अगर कोई फिल्म देखनी तो ये वाली तो मत ही देखना !