'तमाशा' की प्रतिक्रिया मुझे भावुक बना देती हैं: इम्तियाज अली

‘तमाशा’ को भले ही क्रिटिक्स से मिक्स्ड रिव्युज़ मिले हैं लेकिन निर्देशक इम्तियाज अली खुश हैं की उनकी फ़िल्म देखने के बाद कई लोगों ने अपना सपना पूरा करने के लिए जॉब भी छोड़ दी। रणबीर कपूर और दीपिका पादुकोण अभिनीत फिल्म के निर्देशक का कहना है कि रिएक्शन ने उन्हें इमोशनल बना दिया है। उन्होंने आगे कहा कि आज ज़माना बदल गया है क्योंकि आज देश के युवाओं को मीनिंगफुल सिनेमा पसंद आता है।

फिल्म के लिए दर्शकों की प्रतिक्रिया के बारे में बात करते हुए, इम्तियाज़ अली ने कहा, “युवाओं का ग्रुप, चाहे वो कॉलेज स्टूडेंट्स हो या वर्किंग एग्जीक्यूटिव, ने निश्चित तौर पर फ़िल्म को अपना लिया है। मुझे लगता है कि दर्शक ही हैं जिसने इस फ़िल्म को बनाया है। युवा दर्शक अब कमर्शियल मूवी फॉर्मेट में बदलाव चाहते हैं।” 

"तमाशा के साथ, मैंने व्यावसायिक सिनेमा की सीमाओं को टेस्ट किया है। मैंने वास्तविक जीवन की कहानियों को सुना है। तीन लड़कियों ने मुझे बताया कि 'तमाशा' ने उन्हें अपनी नौकरी छोड़ने और सपनों को पूरा करने के लिए प्रेरित किया। सिनेमा के जरिये किसी को प्रेरित करना और काबिल बनाना एक निर्देशक के लिए सबसे बड़ी तारीफ है। 'तमाशा' की प्रतिक्रिया मुझे भावुक बना देती हैं क्योंकि मुझे पता है कि गहराई तक उतर गई है। मैंने एक बैरोमीटर के रूप में सोशल मीडिया पर प्रतिक्रियाओं को देखा है कि युवा मन पर इसका क्या प्रभाव पड़ता है।”

'तमाशा' की प्रतिक्रिया मुझे भावुक बना देती हैं:  इम्तियाज अली