समय से आगे हैं मेघना गुलज़ार

मेघना गुलज़ार को फ़िलहाल में उनके आउट ऑफ़ बॉक्स सोच के लिए जाना जाता है, जो इस फ़िल्म में देखने को मिली थी,  .... यह फ़िल्म सरोगेट मां के बारे में थी। यह 2002 में रिलीज़ हुई थी और कमर्शियली कुछ खास नहीं कर पाई थी, हालांकि यह दर्शकों द्वारा सराही गई थी। मेघना ने कहा कि उनकी बेसिक कोशिश हमेशा कुछ रिलेवेंट और कंटेम्पररी करने की रहती है।

एक इंटरव्यू में, निर्देशक ने आईएएनएस से कहा, " ' Filhaal ...', हालाँकि सराही गई थी, लेकिन कमर्शियली ख़ास नहीं कर पाई थी। उस समय, लोगों ने कहा था, और कहते रहे, अगर फ़िलहाल अभी रिलीज़ हुई होगी, तो ज़्यादा कमाल कर पाती। हाँ, वह अपने समय से आगे थी। लेकिन मुझे उससे कोई परेशानी नहीं है। मैं ऐसा बनना पसंद करुँगी बजाय आउटडेटेड कहलाने के।”

उन्हें लगता है कि जिस तरह की फिल्में बनाई जा रही हैं भारतीय सिनेमा एक महान स्टार पर है। उनका काम इरफान खान और कोंकणा सेन शर्मा अभिनीत आने वाली फ़िल्म तलवार में देखने को मिलेगा। मेघना, लेखक-निर्देशक गुलजार और अनुभवी अभिनेत्री राखी की बेटी है।

समय से आगे हैं मेघना गुलज़ार