घरेलु उत्पीड़न मामले में ‘फरारी की सवारी’ के निर्देशक हुए गिरफ्तार

‘फरारी की सवारी’ निर्देशक राजेश मपुसकर , जिन्होंने ‘मुन्नाभाई’ सीरीज और ‘3 इडियट्स’ में विधु विनोद चोपड़ा और राजकुमार हिरानी को भी असिस्ट किया था, को उनकी पत्नी निशा द्वारा किये गए घरेलू उत्पीड़न के आरोपों के तहत गिरफ्तार किया गया है। फिल्मकार को इंडियन पेनल कोड के सेक्शन 465 , 468 और 471 और 498 के तहत चार्ज किया गया है। "राजेश मपुसकर को गिरफ्तार कर लिया गया है और अदालत में पेश कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया”  दिन्दोशी  पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक, अविनाश सावंत ने मुंबई मिरर को बताया।

निशा, अपने 17 वर्ष के बेटे उत्सव और 9 साल के बेटे ज़ील के साथ गोरेगांव के फ्लोरेंस अमृतवन  में रहती है। 49 वर्षीय निशा का दावा है कि उनका घर जीर्ण-शीर्ण अवस्था में है क्योंकि उनके पति राजेश ने कई महीनों से सोसाइटी बिल्स नहीं भरे हैं। "मेरे पति ने ओबेराय वुड्स में एक आलीशान फ्लैट किराए पर लिया है, और मेंटेनेंस के लिए हर महीने करीब 65,000 रुपये देते आ रहे हैं," निशा ने कहा।

निशा ने यह भी बताया कि कैसे उन्हें जबरदस्ती 2010 में एक मानसिक अस्पताल में भर्ती कराया गया था जब राजेश ने दावा किया था कि वह सुसाइडल और मानसिक रूप से अस्थिर हैं। “जबकि मुझे बेहोश किया गया था। राजेश, अनिल नायडू, प्रेसिडेंट लिंटास प्रोडक्शंस की पत्नी महीप ढिल्लों के साथ एक्स्ट्रा-मेरिटल अफेयर में शामिल थे। महीप ने ‘फरारी की सवारी’ में उन्हें असिस्ट किया था। उन्होंने मेरे जाली साइन किये और मुझे मसिना में एडमिट करा दिया गया। मुझे डॉक्टर माचिसवाला के सुपरविज़न में बिना मेरी मर्ज़ी के 15 शॉक दिए जताए थे जबकि 12 शॉक मैक्सिमम होते हैं। डॉक्टर ने डॉक्टर-पेशेंट कांफिडेंशियालिटी एग्रीमेंट को भी तोडा जब उन्होंने मीडिया से मेरी हालत के बारे में बात करते हुए कहा कि मैं मेंटली अनस्टेबल हूँ। क्या मैं पागल लगती हूँ!” निशा ने बताया।

निशा ने आगे कहा कि वह तलाक के लिए और अपने बच्चों की कस्टडी के लिए भी लड़ रही हैं। “राजेश ने जबरन हमारे बच्चों की कस्टडी लेने की कोशिश की, लेकिन बच्चों ने जाने से इनकार कर दिया क्योंकि उन्हें राजेश के एक्स्ट्रा-मेरिटल अफेयर के बारे में पता था। वे उनके साथ किसी दूसरी औरत के साथ नहीं रहना चाहते थे।” हाई सोसाइटी ब्रीच कैंडी गर्ल ने कहा कि उन्होंने राजेश से शादी करने के लिए अपने सभी एशो-आराम को छोड़ दिया था। “मैंने उनसे शादी की और उनके साथ एक चॉल में रहने चली आई, क्योंकि मैं उनसे प्यार करती थी। हम उनकी मामूली इनकम में भी खुश थे। मैंने कभी भी उनकी फिल्मों के किसी भी सेट पर उन्हें परेशान नहीं किया। अपने आपको और बच्चों को पालने के लिए मैंने सारा सोना बेच दिया, जो मुझे शादी में मिला था। ऐसा किसी भी औरत के साथ नहीं होना चाहिए” निशा का कहना है।

घरेलु उत्पीड़न मामले में ‘फरारी की सवारी’ के निर्देशक हुए गिरफ्तार
loading..