हिंसक रेप सीन के चलते रवीना टंडन की फिल्म मातृ को नहीं मिला सेंसर बोर्ड से सर्टिफिकेट !

रवीना टंडन की कमबैक फिल्म 'मातृ' रिलीज़ से पहले ही मुश्किल में पड़ गई है। सेंसर बोर्ड ने फिल्म को सर्टिफिकेट देने से मना कर दिया है। इसकी वजह फिल्म में रेप के सीन को बताया जा रहा है।

ये फिल्म देश में महिलाओं के साथ बढ़ते रेप और अत्याचार पर आधारित है। इससे पहले भी फिल्म में फिलमाए गए रेप सीन के लिए फिल्म सुर्ख़ियों में बनी रही है। लेकिन इस फिल्म को सेंसर बोर्ड ने सर्टिफिकेट देने से मना कर दिया है। खबर तो ये भी है कि सेंसर बोर्ड की एक टीम फिल्म की स्क्रीनिंग के लिए बैठी थी। लेकिन बोर्ड मेंबर्स फिल्म पूरी देखे बिना ही उठ कर चले गए। इसकी वजह यह बताई जा रही है कि सेंसर बोर्ड को फिल्म की जानकारी नहीं थी।

हिंसक रेप सीन के चलते रवीना टंडन की फिल्म मातृ को नहीं मिला सेंसर बोर्ड से सर्टिफिकेट !

'मातृ' एक सामाजिक मुद्दे पर बनी फिल्म है। ये शायद लोगों को जागरूक कर सकती है। रेप जैसी भयानक घटना को लोगों के सामने रख सकती है। लेकिन ये सेंसर बोर्ड को शायद रास नहीं आ रहा। सेंसर बोर्ड पहले भी कई फिल्मों से कई जरुरी सीन को काट चूका है। जिससे फिल्म को बहुत नुकसान हुआ है।

खबरों के अनुसार फिल्म के निर्माता-निर्देशक फिल्म को न्याय दिलाने के लिए ट्रिब्यूनल जा सकते हैं। फ़िलहाल फिल्म 'मातृ' की टीम की तरफ से इस मामले पर कोई जवाब नहीं आया है।
अब देखना ये होगा कि फिल्म 'मातृ' के सीन में छटाई की जाएगी, या फिल्म बदलते स्वरुप को देखते हुए इन्हीं सीन के साथ बड़े परदे पर दस्तक देगी।