'अपनी पत्नी के साथ काम करना कभी भी एक अच्छा आईडिया नहीं है', कहते हैं सैफ अली खान

सैफ अली खान और करीना कपूर ने कुर्बान, एजेंट विनोद, हैप्पी एंडिंग, टशन और ओमकारा जैसी कुछ फिल्मों में एक साथ काम किया है, लेकिन इन फ़िल्मों में से कोई भी बॉक्स ऑफिस पर कुछ बहुत बड़ा नहीं कर पायीं। यहां तक कि कपल की केमिस्ट्री भी ऑडियंस के दिलों को नहीं छू पाई। बजरंगी भाईजान अभिनेत्री कई दूसरे सेलिब्रिटीज के लिए लकी रही हैं, खास कर खानों के लिए, जिनके साथ उन्होंने कई ब्लॉकबस्टर फ़िल्मों को डिलीवर किया।

फैंटम एक्टर ने एक स्टेटमेंट में कहा, “अब अपनी पत्नी के साथ काम करना कभी भी एक अच्छा आईडिया नहीं है। आपको चुनना होगा। ये अच्छा होगा कि आप घर आओ और उसके साथ रहो और दुसरे लोगों के साथ काम करों। कम से कम इस तरह पर्सनल और प्रोफेशनल दोनों रिश्तों में कुछ ताजगी बनी रहेगी। वर्ना चीज़ें नीरस हो सकती है।

रेस एक्टर ने यह भी कहा, “कुछ लोगों की केमिस्ट्री ऑन स्क्रीन शानदार रहती है जबकि कुछ की नहीं। शायद यह स्क्रिप्ट में रहता हो। इसके अलावा हमने जिस तरह की भी फ़िल्में अब तक की वह मनहूस रहीं और वे थोड़ा कमज़ोर तरीके से सोची गई थी। बहुत से चीज़ें हैं जो इन सब के बीच आती हैं। मुझे लगता है यह एक शर्म की बात है क्योंकि वह एक सुंदर अभिनेत्री है और मैं उनके साथ काम करना पसंद करूँगा।”

'अपनी पत्नी के साथ काम करना कभी भी एक अच्छा आईडिया नहीं है', कहते हैं सैफ अली खान