शबाना आजमी ने एआर रहमान के खिलाफ फतवा का किया विरोध

एआर रहमान के खिलाफ फतवा ने देश में उनके फैन्स के बीच आक्रोश को जन्म दे दिया है। सुनी मुस्लिम रज़ा अकैडमी ने उनकी फिल्म मुहम्मद: द मैसेंजर ऑफ़ गॉड के संबंध में दो बार ग्रेमी विजेता रहमान और ईरानी फिल्मकार माजिद मजीद के खिलाफ फतवा जारी किया है। अभिनेत्री शबाना आजमी ने हाल ही में ऑस्कर विजेता संगीतकार के पक्ष में बात की है।


एआर रहमान के खिलाफ जारी किये गए फतवा के बारे में बात करते हुए, शबाना को यह कहते हुए सुना गया, “एक फतवा किसी एक व्यक्ति या एक समूह द्वारा उठाए गए सवाल के जवाब में केवल एक मुफ्ती द्वारा ही जारी किया जा सकता है।" मुफ्ती फतवा स्वत: जारी नहीं कर सकते और न ही वह इसे लागू कर सकते हैं। रजा अकैडमी को कुछ भी अधिकार नहीं है और खुद ही सभी मुसलमानों के लिए बोलना को कोई नहीं सुनेगा।”

एक फतवा उसी धार्मिक समूह, रजा अकैडमी द्वारा जज़्बा अभिनेत्री के खिलाफ जारी किया गया है और उन में से किसी का कोई परिणाम नहीं निकला है। इस बारे में बात करते हुए, शबाना ने कहा, “रजा अकैडमी ने नेल्सन मंडेला मामले ( उनके द्वारा पितृ तुली मंडेला के गाल पर किस करने का विवाद) में मेरे खिलाफ एक फतवा जारी किया गया था। मैंने उसे नजरअंदाज कर दिया, और बस यही हुआ।"

शबाना आजमी ने एआर रहमान के खिलाफ फतवा का किया विरोध