अवार्ड लौटने पर बोले शाहरुख खान

किंग खान आज 50 वर्ष के हो गए हैं। दिल्ली के आम लड़के से बॉलीवुड के सुपर स्टार बनने तक के सफर में शाहरुख़ ने बहुत से उतार चढाव देखे। एक्टर को पहली बार 1992 की फिल्म 'दीवाना' में देखा गया था। 

हाल ही में फ्रीडम ऑफ़ स्पीच एंड एक्सप्रेशन के उल्लंघन के विरोध के चलते कई सेलिब्रिटी ने अपने अवार्ड लौटाए थे, इस मुद्दे पर बात करते हुए शाहरुख़ ने कहा, "हाँ सिंबॉलिक जेस्चर के रूप में मैं अवार्ड दे देता… मुझे भी लगता है इनटोलेरेन्स है।  यहां बहुत अधिक इनटोलेरेन्स है।"

उन्होंने भारत में मुस्लिम के रूप में रहने को लेकर बात करते हुए कहा, "कोई मेरी देश भक्ति पर सवाल नहीं कर सकता। किसी की ऐसी हिम्मत भी कैसे हो सकती है?" एक्टर के अनुसार भारत में धर्मनिर्पेक्षता के खिलाफ जाना किसी भी देश भक्त की सबसे बड़ी गलती होती है। फिल्ममेकर दिबाकर बनर्जी और आनंद पटवर्धन ने अपने सारे अवार्ड लौटा दिए हैं। वहीं दूसरी ओर अनुपम खेर, मधुर भंडारकर और अशोक पंडित जैसे सेलिब्रिटी की माने तो यह अपमानजनक था। 

अवार्ड लौटने पर बोले शाहरुख खान

Source: plumeriamovies.com