शाहिद कपूर कभी नहीं करना चाहते थे ‘शानदार’ में काम?

शाहिद कपूर और आलिया भट्ट स्टारर फिल्म ‘शानदार’ उतनी जानदार नहीं निकली, जितनी कि इससे उम्मीद की जा रही थी और बस फ़िल्म रिलीज़ होने के एक हफ़्ते बाद से ही इसका दोष एक दुसरे पर मढ़ने का सिलसिला शुरू हो गया। अफ़वाहें तो अब ये आ रही हैं कि शाहिद कभी भी विकास बहल डायरेक्टोरियल का हिस्सा नहीं होना चाहते थे और केवल निर्माता दोस्त मधु मंतेना की वजह से उन्होंने इस फिल्म में काम करने के बारे में सोचा था। अब जब फिल्म के भारी प्रचार के बावजूद इसे मिले-जुले रिव्युज़ मिल रहे हैं और फ़िल्म बॉक्स ऑफिस पर कुछ कमाल नहीं कर पा रही है, शाहिद पिता पंकज कपूर के लिए लेट-डाउन महसूस कर रहे हैं।

एक सूत्र के हवाले से कहा गया है, "वह स्क्रिप्ट के बारे में कभी भी आश्वस्त नहीं थे। उन्होंने निर्माता मधु मंतेना के लिए फिल्म में काम किया था। दोनों करीबी दोस्त हैं। और मधु की खातिर उन्होंने कमज़ोर कहानी के बावजूद फिल्म में काम करने की सहमति दे डाली। लेकिन अब शाहिद नाराज है। क्योंकि ‘शानदार’ ना केवल उनके अपने कैरियर के लिए एक बॉक्स ऑफिस हिट फ़िल्म बन पाने में नाकाम रही जिसकी इस वक़्त उनको बहुत दरकार थी,  बल्कि उसके कारण उनके पिता पंकज कपूर की इमेज भी डाउन हुई है।”

सूत्र ने आगे कहा, “पंकज साब बहुत सेलेक्टिव काम करते हैं। उनकी हाल की फ़िल्में जो चुलबुली कॉमेडी होने का दावा कर रही थी। लेकिन वे सब एक बेवकूफी भरी बकवास कॉमेडी साबित हुई हैं। खुद से ज़्यादा, शाहिद को उनके पिता के लिए बुरा लग रहा है।”

शाहिद कपूर कभी नहीं करना चाहते थे ‘शानदार’ में काम?