'माई नाम इस खान' के लिए शाहरुख़ को मिलना चाहिए ऑस्कर: पाउलो कोएल्हो

2009 में रिलीज़ हुई फिल्म 'माई नाम इस खान' के लिए शाहरुख़ खान की ऑडियंस और क्रिटिक्स के द्वारा काफी सराहना हुई। हाल ही में खुलासा हुआ है कि जाने माने लेखक पाउलो कोएल्हो ने अगस्त में ही करन जोहर द्वारा निर्देशित यह फिल्म देखी। उन्होंने अगस्त में भी ट्विटर पर शाहरुख़ के अभिनय की तारीफ की थी पर अब शाहरुख़ खान की कई फ़िल्में देखने के बाद पाउलो कोएल्हो ने बादशाह खान को ऑस्कर का हक़दार बताया है। 

'माई नाम इस खान' देखने के बाद पाउलो कोएल्हो ने इस सुपरस्टार की अधिक फ़िल्में देखने की इच्छा जताई थी। बादशाह स्टार ने कोएल्हो का यह ट्वीट देखने के बाद उन्हें अपनी सर्वश्रेष्ठ फिल्मों की डी.वी.डी भेजी जिसमें ‘चक दे इंडिया’, ‘स्वदेश’, ‘अशोक’, ‘रा- वन’, ‘डॉन’ और ‘कभी अलविदा ना कहना’ जैसी फिल्मों का नाम शामिल था। यह फ़िल्में देखने के बाद कोएल्हो इस एक्टर की प्रतिभा के मुरीद हो गए। 

पाउलो कोएल्हो ने फेसबुक पर लिखा, "2008 में रिलीज़ होने के बाद भी शाहरुख़ की पहली फिल्म जो मैने देखी थी वह 'माई नाम इस खान' थी। न सिर्फ मूवी सर्वश्रेष्ठ थी पर अगर हॉलीवुड को मनिपुलेट नहीं किया जाता तो एस.आर.के ऑस्कर के हक़दार थे। उन्होंने दूसरी फ़िल्में भेजने का भी अनुरोध किया क्योंकि स्विट्जरलैंड में यह मिलना थोड़ा मुश्किल है।"     

'माई नाम इस खान' के लिए शाहरुख़ को मिलना चाहिए ऑस्कर: पाउलो कोएल्हो

Source: cloudfront.net