गुज़रे ज़माने की एक्ट्रेस गीता कपूर का बेटा उन्हें अस्पताल में छोड़ भागा !

आज के ज़माने में आये दिन हमें कई ख़बरें सुनने को मिलती हैं, जिनमें बच्चों के अपने बूढ़े माँ-बाप को लाचार हालत में छोड़ देने की खबरें भी शामिल हैं। ऐसा ही कुछ हुआ गुज़रे ज़माने की मशहूर अदाकारा रह चुकी गीता कपूर के साथ ! 'पाकीजा' (1972) जैसी फिल्मों में काम कर चुकीं एक्ट्रेस गीता कपूर का उस वक्त रो-रोकर बुरा हाल हो गया, जब उन्हें पता चला कि उनका कोरियोग्राफर बेटा राजा कपूर उन्हें अस्पताल में अकेला छोड़कर भाग गया है।

21 अप्रैल को लो ब्लड प्रेशर की शिकायत के बाद राजा ने गोरेगांव, मुंबई स्थित प्राइवेट अस्पताल SRV की एम्बुलेंस बुलवाई और माँ को अस्पताल में छोड़कर फरार हो गया। एक महीने से ज़्यादा का वक्त बीत गया, लेकिन राजा उन्हें दोबारा देखने के लिए नहीं आया और न ही फोन पर बात करने को तैयार हुआ।

गुज़रे ज़माने की एक्ट्रेस गीता कपूर का बेटा उन्हें अस्पताल में छोड़ भागा !

अपने ज़माने की बेहतरीन अदाकारा रही गीता अस्पताल में बिस्तर पर रोती बिलखती गीता को विश्वास नहीं हो रहा कि उसे ये दिन देखना पड़ रहा है। गीता को अस्पताल में भर्ती हुए एक महीने से ज्यादा का समय हो चुका है। अस्पताल की तरफ से कहा जा रहा है कि अब गीता की तबियत में सुधार है। अस्पताल का लाखों का बिल बन चुका है और गीता अब ठीक हो चुकी हैं, लेकिन उन्हें अभी तक कोई डिस्चार्ज करवाने के लिए नहीं आया है। इसी वजह से गीता के आँसू नहीं रुक रहे हैं। अब अस्पताल भी गीता के लिए किसी ओल्डएज होम की तलाश कर रहा है.

जैसे-जैसे गीता के बारे में इंडस्ट्री के लोगों को जानकारी मिल रही है वैसे ही लोग बेटे राजा कपूर से अपील कर रहे हैं कि वो अपनी माँ को अस्पताल से लेकर जाए। इस मामले में पुलिस पर भी उंगली उठ रही है। इस मामले में अस्पताल प्रशासन ने 2 मई को ही पुलिस में लिखित शिकायत दर्ज करवा दी थी।

पुलिस का कहना कि वे सिर्फ गीता के बेटे तक पहुंचने में अस्पताल की मदद कर सकते हैं। गीता के बेटे से पुलिस की टेक्स्ट मैसेज के जरिए बात हुई है और वह जल्दी से जल्दी अस्पताल का बिल भर देगा। वहीं अस्पताल प्रबंधन को पुलिस की यह बात झूठ लग रही है। उनका मानना है कि पुलिस इस मामले में पूरी मदद नहीं कर रही है।

loading..