नेशनल अवार्ड लौटाने से विद्या बालन का इनकार

एफटीआईआई में चल रहे विवादों के चलते दिबाकर बनर्जी और आनंद पटवर्धन जैसे कई फिल्म निर्माताओं के नेशनल अवार्ड लौटाने के फैसले से विद्या बालन ने खुद को अलग कर लिया है। बॉलीवुड अभिनेत्री ने कहा, "यह सम्मान देश द्वारा दिया गया है न कि सरकार द्वारा तो मैं इसे लौटना नहीं चाहती।"

37 वर्षीय अभिनेत्री ने 2012 की फिल्म ‘द डर्टी पिक्चर’ के लिए बेस्ट एक्ट्रेस का नेशनल अवार्ड प्राप्त किया था। एक्ट्रेस ने बताया कि उन्हें राजनीती में जाने का कोई शौक नहीं हैं। उनका मानना है कि अगर उन्होंने कभी भी ऐसा किया तो वह उसमे बुरी तरीके से फ़ैल हो जाएंगी। 

एफटीआईआई के चेयरपर्सन के पद पर भाजपा सदस्य गजेंद्र चौहान के नाम की घोषणा होने के साथ ही 12 फिल्ममेकर ने सरकार को नेशनल अवार्ड लौटाने का फैसला किया। इसके तुरंत बाद अनुपम खेर ने निर्माताओं पर सेंसर बोर्ड जूरी और उनकी फिल्मों को देखने वाली ऑडियंस का अपमान करने की बात कही थी। अवार्ड लौटा रहे फिल्म निर्माताओं में परेश कामदार, निष्ठा जैन, कीर्ति नखवा, हर्षवर्धन कुलकर्णी, हरि नायर, राकेश शर्मा, इन्द्रनील लाहिरी और लिपिका सिंह डारै का नाम शामिल है।      

नेशनल अवार्ड लौटाने से विद्या बालन का इनकार

Source: mid-day.com

loading..