विनय पाठक: मेरी ‘फनी मैन’ इमेज फ़िल्ममेकर्स को रोकती है

विनय पाठक कहते हैं कि बॉलीवुड में उनकी ‘फनी मैन’ इमेज को लेकर उन्हें कोई फ़र्क नहीं पड़ता है, लेकिन वह यह भी कहते हैं कि फ़िल्म मेकर्स इस वजह से रिस्ट्रिक्ट हो जाते हैं। उन्होंने पीटीआई को बताया, “मेरी जो पॉपुलर इमेज हैं वह ‘भेजा फ्राई, ‘चलो दिल्ली’ और ‘रब ने बना दी जोड़ी’ से मिली है। बहुत कम है जो आकर मुझसे कहते हैं कि ‘मैंने आपको ‘दसविदानिया’ में देखा है और मुझे वह बहुत पसंद आई।"

खोसला का घोसला एक्टर ने आगे कहा, “मैं अपनी पॉपुलर इमेज के बारे में जानता हूँ। और मुझे लगता है कि यह मुझे नहीं रोकता लेकिन फ़िल्ममेकर्स शायद मेरी इमेज से परे किसी दूसरे रोल में मुझे इमेजिन ही नहीं कर पाते हैं।”

एक्टर का अगला प्रोजेक्ट गौर हरी दास्तान: द फ्रीडम फाइल है, जिसमे वह एक ओडिशा स्वतंत्रता सेनानी गौर हरि दास की भूमिका निभा रहे हैं। यह फिल्म दास के संघर्ष के बारे में है, जिसने 32 साल तक यह साबित करने के लिए लड़ाई लड़ी कि वह स्वतंत्रता आंदोलन का एक हिस्सा था। एक्टर को इस फिल्म से काफ़ी उम्मीद है और चाहते हैं कि इस फिल्म में उनकी भूमिका को देख इंडस्ट्री को उनके अभिनय का एक अलग पक्ष भी नज़र आये।

विनय पाठक: मेरी ‘फनी मैन’ इमेज फ़िल्ममेकर्स को रोकती है