शेरोन स्टोन ने जेंडर और वेज इनिक्वालटी के बारे में जाहिर की अपनी राय

1992 की फिल्म ‘बेसिक इंस्टिंक्ट’ में उसकी भूमिका के लिए जानी जाने वाली, एक्ट्रेस शेरोन स्टोन ने खुलासा किया है कि उन्हें फ़िल्म के बाद मेल एक्टर्स की तुलना में काफी कम पेमेंट किया जाता था। पीपल के मुताबिक, शेरोन ने बताया, “’बेसिक इंस्टिंक्ट’ के बाद, कोई भी मुझे पे नहीं करना चाहता था”, हॉलीवुड में मजदूरी असमानता के मुद्दे के बारे में अपने अनुभव को साझा करते हुए उन्होंने कहा। 57 वर्षीय एक्ट्रेस विमेंस राईट की एडवोकेट हैं। 

"मुझे याद है मैं किचन में अपने मैनेजर के साथ बैठी थी और रोते हुए कह रही थी, ‘जब तक मुझे पैसे नहीं मिलते मैं काम नहीं करने वाली।’ मुझे अभी भी किसी भी आदमी की तुलना में तो बहुत कम भुगतान किया गया है”, उन्होंने कहा। शेरोन ने आगे कहा कि यह मुद्दा हॉलीवुड में ही नहीं बल्कि हर जगह उभर कर आ रहा है। “[बदलाव] रेगुलर पेमेंट के साथ शुरू होना चाहिए, सिर्फ़ मूवी स्टार्स के लिए नहीं, बल्कि रेगुलर नौकरी में काम करने वाली रेगुलर महिलाओं के लिए भी।”

शेरोन एक एक्ट्रेस के रूप में कैरियर शुरुआत करने से पहले एक वेट्रेस के रूप में काम किया करती थी और उन्होंने कहा, “मैंने टेबल पर इंतज़ार किया है और फर्श पर पोछा मारा है और अपने काम के लिए सब कुछ किया है और आपको भी करना चाहिए, यह ठीक नहीं है अगर आप ऐसा नहीं करती हैं। 50 फीसदी से अधिक शादियाँ तलाक में तब्दील हो जाती हैं और महिलाएं काम करती हैं और अपने बच्चों की देखभाल करती हैं और यह इसी तरह चलता रहता है और आपको ‘हाँ’ बोलना पड़ता है क्योंकि आपको अपने बच्चों का पेट भरना है। ये एक तरह से इकॉनोमिक ब्लैकमेल है।”  ‘बेसिक इंस्टिंक्ट’ में माइकल डगलस मेल लीड रोल में थे और साथ में जॉर्ज जून्डज़ा , जैन ट्रीपलहॉर्न और डेनिस अरंडट ने भी काम किया था।

शेरोन स्टोन ने जेंडर और वेज इनिक्वालटी  के बारे में जाहिर की अपनी राय