जानिए क्या खास है सिद्धार्थ मल्होत्रा और जैकलीन फर्नांडिज़ की फिल्म 'अ जेंटलमैन' में !

सिद्धार्थ मल्होत्रा और जैकलीन फर्नांडिज़ की फिल्म 'अ जेंटलमैन' आखिरकार रिलीज़ हो चुकी है। फिल्म एक्शन से भरपूर और मज़ेदार है। फिल्म को कृष्णा डीके और राज निदिमोरू ने डायरेक्ट की है। इससे पहले भी दोनों ने साथ में कई फ़िल्में डायरेक्ट की हैं। लेकिन ये फिल्म उनकी बाकि फिल्मों से थोड़ी अलग है। इस फिल्म में डायरेक्टर्स ने फिल्म की कहानी से ज़्यादा एक्शन पर फोकस किया है। 

सिद्धार्थ का किरदार गौरव और ऋषि 

जानिए क्या खास है सिद्धार्थ मल्होत्रा और जैकलीन फर्नांडिज़ की फिल्म 'अ जेंटलमैन' में !



इस फिल्म में सिद्धार्थ के दो किरदारये हैं। गौरव और ऋषि  से जहाँ एक तरफ गौरव को सुन्दर, सुशील दिखाया गया है वहीं दूसरी तरफ ऋषि गुंडों की तरह रिस्की और चलाक हैं। फिल्म के एक हिस्से में दोनों किरदारों को इस तरह पेश किया गया है, जिससे कंफ्यूज़न बढ़ाई जा सके। लेकिन असल कंफ्यूज़न का भांडा इंटरवल से पहले ही फूट जाता है। लेकिन अगर एक्टिंग की बात की जाये तो ये पूरी फिल्म सिद्धार्थ पर आधारित थी। उन्होंने फिल्म के किरदार के साथ पूरी तरह से न्याय किया है। वो इस एक्शन किरदार में जच रहे थे और उन पर फिल्माएँ सभी एक्शन सीन जबरदस्त और नए थे। जो हमने पहले फिल्मों में नहीं देखे। 

जैकलीन का किरदार काव्या

जानिए क्या खास है सिद्धार्थ मल्होत्रा और जैकलीन फर्नांडिज़ की फिल्म 'अ जेंटलमैन' में !

फिल्म में जैकलीन को मुख्य एक्ट्रेस के रूप में पेश किया गया है। फिल्म में जैकलीन एक चुलबुली लड़की के किरदार में नज़र आई हैं, लेकिन सिर्फ एक-दो हॉट सीन और दो-चार डायलॉग्स के अलावा फिल्म में वो ज़्यादा कुछ करती नहीं दिखाई दे रही हैं। उन पर फिल्माया गाना 'चंद्रलेखा' में उनके डांस मूव्स और पोल डांस आपको ज़रूर पसंद आएगा।

फिल्म में खूबियाँ

जानिए क्या खास है सिद्धार्थ मल्होत्रा और जैकलीन फर्नांडिज़ की फिल्म 'अ जेंटलमैन' में !

फिल्म का जो सबसे अच्छा पार्ट है इसके एक्शन सीन्स और लोकेशंस हैं। फिल्म में हल्की-फुल्की कॉमेडी है जो आपको अच्छी लगेगी। इसके साथ ही फिल्म के सपोर्टिंग किरदारों ने भी अच्छा काम किया है। 

फिल्म में कमियाँ 

जानिए क्या खास है सिद्धार्थ मल्होत्रा और जैकलीन फर्नांडिज़ की फिल्म 'अ जेंटलमैन' में !

फिल्म की सबसे कमजोर कड़ी इसकी कहानी और डायरेक्शन हैं। सिद्धार्थ और जैकलीन पहली बार साथ आये है और हॉट सीन देने के बाद भी दोनों की केमेस्ट्री फीकी लगती है। विलेन के रूप में सुनील शेट्टी नज़र आये हैं लेकिन इस फिल्म में उनका किरदार जबरदस्ती घुसाया लग रहा। अगर सुनील इस फिल्म का हिस्सा ना भी होते तो भी फिल्म पर कोई खास प्रभाव नहीं पड़ता।

फिल्म अच्छी है और अगर आप सिद्धर्थ को एक नए अवतार में देखना चाहते हैं तो एक बार ये फिल्म ज़रूर देख लीजिये।