'हिंदी मीडियम' में कुछ इस तरह के किरदारों से मिलेंगे आप !

इरफ़ान खान और सबा कमर स्टारर फिल्म 'हिंदी मीडियम' ने सभी का दिल खुश कर दिया है। देश के एजुकेशन सिस्टम पर कटाक्ष करती ये फिल्म कॉमेडी से भरपूर है और आपके दिल में उतरने की क्षमता रखती है। फिल्म की कहानी, उसका निर्देशन और परफॉरमेंस सभी बेमिसाल है। फिल्म के रिव्यु तो आ चुके हैं लेकिन अगर आप फिल्म के किरदारों और कहानी के बारे में जानना चाहते हैं तो पढ़िये हमारा पिक्टोरियल रिव्यू !

'हिंदी मीडियम' में कुछ इस तरह के किरदारों से मिलेंगे आप !
सबा कमर का किरदार मीता
सबा कमर ने फिल्म 'हिंदी मीडियम' से बॉलीवुड में डेब्यू किया है और जैसा काम उन्होंने इस फिल्म में कर दिखाया है उस हिसाब से इससे अच्छा डेब्यू उनका हो ही नहीं सकता था ! वे मीता का किरदार निभा रही हैं, जो एक फिक्रमंद माँ है और अपनी बच्ची के लिए दुनिया की हर बेस्ट चीज़ करना चाहती है भले ही उसे किसी भी हद तक जाना पड़े ! इसके साथ ही मीता अपने पति को भी अपनी हर बात मानने पर मजबूर कर ही लेती है !
'हिंदी मीडियम' में कुछ इस तरह के किरदारों से मिलेंगे आप !
इरफ़ान का किरदार राज बत्रा
राज बत्रा दिल्ली के चांदनी चौक का रहने वाला है और वहीं के एकदम कूल अंदाज़ में लोगों के साथ मिलता-जुलता है ! राज की सिर्फ एक ही परेशानी है और वो है उसकी अंग्रेज़ी जो कि थोड़ी तंग है लेकिन राज को इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता ! राज बेहद फनी है और ज़्यादातर बातों को हल्के में ही लेता है ! अगर आप इरफान खान के फैन नहीं है तो राज बत्रा को देखने के बाद हो जायेंगे !
'हिंदी मीडियम' में कुछ इस तरह के किरदारों से मिलेंगे आप !
क्या-क्या है इस फिल्म में?
इस फिल्म में सबकुछ बिल्कुल सही मात्रा में है ! इरफ़ान खान, सबा कमर और दीपक डोबरियाल के साथ-साथ फिल्म के बाकि सभी एक्टर्स का काम कमाल है ! दिल्ली के जिस भी इलाके की बात की गयी है वहाँ के रंग को बेहतरीन तरीके से दिखाया गया है ! इसके साथ-साथ एक्टर्स की कॉमिक टाइमिंग और फिल्म की असलियत की जितनी तारीफ़ की जाये कम है !
'हिंदी मीडियम' में कुछ इस तरह के किरदारों से मिलेंगे आप !
कैसी है फिल्म?
मीता की टेंशन कि कहीं उसकी बेटी परेशान होकर ड्रग्स ना लेने लगे, नर्सरी एडमिशन में होने वाली माता-पिता की परेशानी और हिंदी-अंग्रेज़ी की जंग आपको इस फिल्म में देखने को मिलेगी ! कुल-मिलाकर ये फिल्म एकदम पैसा वसूल है !