साउथ की सायरन सिल्क स्मिता: जिस एक लड़की के नाम से बंद पड़ी फिल्में तक बिक जाती थीं !

सिल्क स्मिता के बारे में बॉलीवुड के लोगों का ध्यान तब गया जब विद्या बालन ने द डर्टी पिक्चर में उनके ऊपर बेस्ड रोल निभाया। इस एक फिल्म ने उनकी मौत के दशकों बाद फिल्म इंडस्ट्री के छुपे हुए राज़ों पर से पर्दा हटा दिया। 

कौन थीं सिल्क स्मिता ?

साउथ की सायरन सिल्क स्मिता: जिस एक लड़की के नाम से बंद पड़ी फिल्में तक बिक जाती थीं  !

सिल्क स्मिता उनका स्क्रीन नेम था।  असल ज़िन्दगी में उनका नाम विजयलक्ष्मी वदलापति था।  आंध्र प्रदेश में जन्मी ये लड़की बचपन से ही लोगों का ध्यान आकर्षित करती आयी थी, और इसी वजह से माँ -बाप ने काम उम्र में ही उनकी शादी करा दी। चौथी कक्षा के बाद पढ़ाई ना कर सकने वाली विजयलक्ष्मी शादी के बाद ससुराल वालों के ताने और उनके द्वारा दी   चेन्नई (तब मद्रास ) चली आयीं।  

साउथ की सायरन सिल्क स्मिता: जिस एक लड़की के नाम से बंद पड़ी फिल्में तक बिक जाती थीं  !

वहां उन्होंने एक एक्ट्रेस की टच -अप आर्टिस्ट और डोमेस्टिक हेल्प का भी काम किया।  उस एक्ट्रेस की वजह से उनको भी छोटा-मोटा काम मिलना शुरू हो गया। उनको अपना पहला ब्रेक मिला फिल्म वंडचक्कारम से। उसी फिल्म में अपने किरदार के नाम सिल्क और अपने इंडस्ट्री  स्मिता को जोड़कर उनकी पहचान बनी सिल्क स्मिता की जो आजीवन उनके साथ रही।  

साउथ की सायरन सिल्क स्मिता: जिस एक लड़की के नाम से बंद पड़ी फिल्में तक बिक जाती थीं  ! 

जैसे ही साउथ इंडियन इंडस्ट्री ने देखा कि एक ऐसी एक्ट्रेस का आगमन हुआ है जो वो सब कुछ करने को तैयार है जो उनकी 'सुशील और संस्कारी' हीरोइनें करने को तैयार नहीं थीं , तो उनको सबने हाथों-हाथ लिया।  उन्होंने अपने छोटे से करियर में 450 से ज़्यादा फिल्में कीं , लेकिन अधिकतर में उनकी भूमिका एक जैसी ही रही। लोग बताते हैं कि उनके सांवले होने की वजह से उन पर पैनकेक की कई परतें थोपी जाती थीं ताकि वो दक्षिण भारतीय लोगों के मन में गहरे तक धंसी सफ़ेद चमड़ी की चाहत को पूरा कर सकें, ये सब झेल कर भी वो बनी रहीं। आगे बढ़ती रहीं।  

साउथ की सायरन सिल्क स्मिता: जिस एक लड़की के नाम से बंद पड़ी फिल्में तक बिक जाती थीं  !

उनका होना इसलिये ख़ास था क्योंकि वो एक ऐसी अदाकारा थीं जिन्होंने अपने दिल की बात हमेशा खुल कर कही। उन्होंने उन्मुक्तता को अपने शरीर से नयी परिभाषा दी और दक्षिण भारत के उस समाज के दोगलेपन को उजागर करके रख दिया जिसमें एक तरफ सुशील संस्कारी लड़की और दूसरी तरफ सीधे वेश्या की बाइनरी बना कर रख दी गयी थी।  सिल्क स्मिता की लोकप्रियता का आलम ये था कि उनके लिए फिल्मों की तारीख निकालना मुश्किल हो रहा था। उनकी फीस इतनी बढ़ गयी थी कि कई बार वो मेन एक्टर्स/एक्ट्रेसेज से ज़्यादा कमा लेती थीं । महीनों से बंद पड़ीं फिल्में सिर्फ सिल्क का एक गाना भर डाल देने से चल जाती थीं। डिस्ट्रीब्यूटर्स ज़ोर डालते थे कि उनकी एक झलक ही सही, लेकिन फिल्म में रख दी जाए।  

साउथ की सायरन सिल्क स्मिता: जिस एक लड़की के नाम से बंद पड़ी फिल्में तक बिक जाती थीं  !

मशहूर एक्टर रविचंद्रन उन्हें काफी करीब से जानते थे।  उनका कहना था कि सिल्क को जितनी इज़्ज़त मिलती है, वो उतनी वापिस भी ज़रूर देती हैं। सिल्क को बाद में फिल्मों में काम मिलना कम हो गया था क्योंकि समय के साथ  ऐसी एक्ट्रेसेज आने  लगी थीं  जो एक्टिंग के साथ-साथ स्किन शो करने को भी तैयार थीं। इसी  फिल्में प्रोड्यूस भी करने की कोशिश की जिसकी सलाह उंनके लिव-इन पार्टनर ने दी थी जिन पर उनको काफी भरोसा था।  इन फिल्मों में उनका काफी पैसा डूब गया ,  जिस वजह से आर्थिक तंगी का उन्हें अचानक सामना करना पड़ा।  

साउथ की सायरन सिल्क स्मिता: जिस एक लड़की के नाम से बंद पड़ी फिल्में तक बिक जाती थीं  !

इन सभी कारणों की वजह से डिप्रेशन में जाने के चिह्न साफ़ नज़र आ रहे थे सिल्क की ज़िन्दगी में, ऐसा लोगों का कहना है। अपनी मौत से पहले  रविचंद्रन को कॉल करने की कई बार कोशिश की , लेकिन समय उनकी उनसे बात नहीं हो पायी। अगले दिन रवि को खबर मिली कि स्मिता ने अपने घर के पंखे से लटक कर जान  दे दी है।  रवि बताते हैं कि आज तक ये बात उनका पीछा करती है।  

साउथ की सायरन सिल्क स्मिता: जिस एक लड़की के नाम से बंद पड़ी फिल्में तक बिक जाती थीं  !

सिल्क स्मिता को सेक्स आइकॉन से आगे बढ़कर मान सकने वाला समाज शायद अभी तक बन नहीं पाया है। लेकिन ये बात मानी जा सकती है कि अपने समय से आगे की इस लड़की को इसका क्रेडिट देने वाला समाज एक दिन ज़रूर अस्तित्व में आएगा, और जब वो आएगा , तो इस बात की टीस  उसे ज़रूर सालेगी कि एक भोली, खूबसूरत लड़की से वो सब कुछ बनने का मौका नहीं दिया गया जिसके वो काबिल थी।