ये गाने सबूत हैं कि लता मंगेशकर के बिना बॉलीवुड अधुरा होता !

स्वर कोकिला लता मंगेशकर एक ऐसा नाम जिन्होंने अपनी आवाज़ के बदौलत न सिर्फ देश में बल्कि विदेशों में भी अपनी आवाज़ का जादू चलाया। ये अकेली ऐसी गायिका हैं जिन्होंने अभी तक के अपने करियर में 30 हज़ार से ज़्यादा गाने गए हैं। न सिर्फ हिंदी बल्कि 30 अलग-अलग भाषाओं में फ़िल्मी और गैर फ़िल्मी गाने इनके नाम हैं।

28 सितम्बर 1929 को मध्य प्रदेश के इंदौर में जन्मी लता का बचपन से गायिकी की तरफ रुझान था। वो अपने स्कूल के दिनों में भी गाना गाया और सिखाया करती थीं। और इनके इसी शौक ने इन्हें भारत की सबसे बेहतरीन गायिका बना दिया। लता मंगेशकर के नाम 6 विश्विद्यालयों से डॉक्टरेट की डिग्री हैं लेकिन ये बात बहुत कम लोग जानते हैं कि लता ज़्यादा पढ़ी-लिखी नहीं हैं। लेकिन इतने बढे टेलेंट के आगे उनकी स्कूली शिक्षा महत्व नहीं रखती। वो खुद विद्या देवी सरस्वती के नाम से जानी जाती हैं। सुरों में डूबी लता ने बहुत खूबसूरत नगमें दिए हैं, लेकिन ये 10 गाने न सिर्फ हमारे बल्कि खुद इनके भी फेवरेट हैं। 

1. नाम गुम जायेगा !

2. लग जा गले !

3. दिल तो है दिल !

4. मुझसे जुदा हो कर !

5. तेरे मेरे होठों पे !

6. मेरे ख्वाबों में जो आये !

7. कभी कभी मेरे दिल में !

8. मैं तेरे इश्क में मर न जाऊ कहीं !

9. करवटे बदलते रहे सारी रात हम !

10. मिलो न तुम तो हम घबराए !