बॉलीवुड के इन 5 किरदारों की कहानी पूरी करने के लिए एक अलग फ़िल्म होनी चाहिए!

बॉलीवुड में कई ऐसे किरदार हैं जिनकी स्टोरीज़ को हमारी अधूरी कहानी कहा जा सकता है। कई फ़िल्मों में ऐसे सपोर्टिंग किरदार थे जिनकी कहानी हमें बहुत अच्छी लगी और हम चाहेंगे की उनकी एक अलग से स्टोरी बने। यहां हम आपके लिए 5 ऐसे ही किरदार लाये हैं और हम चाहते हैं कि इनकी स्टोरी पूरी हो। आइये उनके बारे में विस्तार से जानते हैं। 

करिश्मा और अक्षय, फ़िल्म-दिल तो पागल है

फ़िल्म में इन दोनों ने अपने अपने प्यार की कुर्बानी दी। मगर लास्ट सीन में अक्षय ने करिश्मा से पूछा आपकी शादी हो गई है क्या? हम इनकी कहानी आगे भी देखना चाहेंगे। क्यों सही हैं ना?

बॉलीवुड के इन 5 किरदारों की कहानी पूरी करने के लिए एक अलग फ़िल्म होनी चाहिए!

अभिषेक बच्चन और रानी मुख़र्जी,

फ़िल्म-हम तुम फ़िल्म में अभिषेक मर जाते हैं मगर उनका फ़्लैशबैक देखना हमें अच्छा लगता है जिस तरह वो मिले थे।

बॉलीवुड के इन 5 किरदारों की कहानी पूरी करने के लिए एक अलग फ़िल्म होनी चाहिए!

स्वीटू और फ्रैंकी, फ़िल्म- कल हो न हो

हम देखना चाहेंगे इनकी कहानी कैसे अंत हुई और क्या वाकई ऐसा था ?

बॉलीवुड के इन 5 किरदारों की कहानी पूरी करने के लिए एक अलग फ़िल्म होनी चाहिए!

सलमान खान फ़िल्म- कुछ कुछ होता है

अब सलमान को दूसरी कौन सी हीरोइन मिलती ये तो हमें नहीं पता मगर क्योंकि वो राहुल के लिए अंजली की कुर्बानी देते हैं इस हिसाब से उनकी एक कहानी होनी चाहिए।

बॉलीवुड के इन 5 किरदारों की कहानी पूरी करने के लिए एक अलग फ़िल्म होनी चाहिए!

परमीत सेठी, फ़िल्म- दिल वाले दुल्हनिया ले जायेंगे

परमीत को हर तरफ से मार पड़ती है और अंत में उन्हें लड़की भी नहीं मिलती क्योंकि काजोल उस इंसान से शादी करने को मना कर देती हैं जिससे वो कभी मिली तक नहीं।

बॉलीवुड के इन 5 किरदारों की कहानी पूरी करने के लिए एक अलग फ़िल्म होनी चाहिए!