रणबीर कपूर, फरहान के खिलाफ एफ़ आई आर हुई दर्ज: 'मैं इसका हिस्सा नहीं हूँ' , रणबीर कपूर का है कहना

जालसाजी और आपराधिक विश्वास हनन के आरोपी, रणबीर कपूर और फरहान अख्तर के खिलाफ एक एफआईआर दायर किया गया है जब उन्होंने askmebazaar।com  के लिए प्रमोशन किया जो कथित रूप से ग्राहकों को धोखा दे रहा है। एफआईआर दोनों अभिनेताओं और वेबसाइट के निदेशकों के खिलाफ, वकील रजत बंसल ने भारतीय दंड संहिता की धाराओं के तहत 420 (जालसाजी), 406 (आपराधिक विश्वास के उल्लंघन के लिए सजा) दर्ज कराई गई है । रणबीर कपूर ने आखिरकार इसके बारे में अपनी आवाज़ उठाई है।

जब रॉकस्टार रनबीर से एफआईआर के बारे में पूछा गया, उन्होंने पीटीआई को बताया, “मैंने इसके बारे में सुना है। मैंने अपने लोगों से जाँच करने के लिए कहा और पता चला कि मैं इसका हिस्सा नहीं हूँ........इसलिए मैं बच गया हूँ।”

रजत बंसल के अनुसार,  उन्होंने 23 अगस्त को askmebazaar।com से एक 40 इंच एलईडी टीवी आर्डर किया था जिसका मूल्य 29,999 रूपये हैं। उन्होंने कहा कि उन्होंने अपने डेबिट कार्ड के माध्यम से भुगतान किया था और वादा के मुताबिक, 10 दिनों में प्रोडक्ट उन्हें नहीं मिला।, लेकिन उसी प्रोडक्ट की रसीद प्राप्त कर ली है। एफआईआर 19 सितम्बर को दर्ज की गई थी।

रणबीर कपूर, फरहान के खिलाफ एफ़ आई आर हुई दर्ज: 'मैं इसका हिस्सा नहीं हूँ' , रणबीर कपूर का है कहना
loading..