सलमान खान की जमानत रद्द करने की याचिका हुई खारिज

बॉम्बे उच्च न्यायालय ने हिट एंड रन मामले के तहत सलमान खान की जमानत और उनकी 5 साल की जेल की सजा की वृद्धि को कैंसिल करने की मांग के बारे में 2 एप्लीकेशन्स को खारिज कर दिया है। ये एप्लीकेशन्स स्वर्गीय रविंद्र पाटिल की मां सुशीलाबाई पाटिल की ओर से दायर की गई थी। इसके अलावा, सजा के खिलाफ बजरंगी भाईजान की अपील की सुनवाई 21 सितंबर से डेली बेसिस पर तय कर दी गई है।

सलमान खान की जमानत रद्द करने की याचिका हुई खारिज

आवेदक ने आग्रह किया था कि सलमान खान जो पहले ही काले हिरन की हत्या के मामले के तहत दोषी पाए गए थे, मुंबई मजिस्ट्रेट ने हिट एंड रन मामले में वांटेड स्टार जमानत दे दी थी, जिन्हें इसके बारे में कोई जानकारी नहीं थी। आवेदक के अनुसार, इस तरह उन पर आईपीसी के तहत 'गैर इरादतन हत्या’ का आरोप भी जुड़ जाता है। इसलिए, जय हो स्टार की जमानत को रद्द कर दिया जाना चाहिए।

सुशीलाबाई पाटिल की याचिका को न्यायमूर्ति ए आर जोशी द्वारा इस आधार पर अस्वीकार कर दिया गया था कि आवेदक ने अतीत में भी इसी तरह की एक याचिका दायर की थी। दूसरी तरफ़, उच्च न्यायालय ने यह कहते हुए याचिका ख़ारिज कर दी कि उनके पास सुने जाने का अधिकार नहीं था। रविंद्र पाटिल सलमान का पुराना पुलिस बॉडी गार्ड था जिसकी ट्रेल के दौरान मृत्यु हो गई थी। उन्होंने एक था टाइगर अभिनेता के खिलाफ केस दायर किया है और यह भी कहा कि वह शराब के नशे में थे।