शाहरुख़ ने धर्मेन्द्र को अपनी फ़िल्मों को ठीक से प्रोमोट करने को कहा

आजकल अपनी फ़िल्मों को प्रमोट करने के लिए एक्टर्स कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। यह प्रमोशन का कल्चर बॉक्स ऑफिस कलेक्शन और भीड़ को थिएटर तक खींच कर लाने में बड़ा अहम रोल निभा रहा है। लेकिन, ऐसा लगता है आज भी देओल्स कैम्पेनिंग से दूरी बनाये रखने में विश्वास करते हैं। इस हिचकिचाहट पर अपनी राय देते हुए अनुभवी एक्टर धर्मेन्द्र ने कहा उन्हें ऐसा करना अपनी तुरही आप बजाने जैसा लगता है, हालाँकि, शाहरुख़ ने एक बार उन्हें प्रमोशन पर ज़ोर देने के लिए कहा था।

एक्टर ने PTI को बताया, “अपने एक अच्छी फ़िल्म थी और स्पोर्ट्स शैली पर ऐसी कोई फ़िल्म नहीं बनी है। ढेर सारी फ़िल्मों को स्पोर्ट्स शैली की फिल्में बनाने में मीडिया का सपोर्ट मिला लेकिन हमारी फ़िल्म को नहीं। मुझे याद है एक बार शाहरुख़ खान ने मुझसे कहा था कि लोगों को खींचने के लिए मुझे ठीक से प्रमोट और मार्केटिंग करनी चाहिए थी। मेरे ख्याल से फ़िल्म को प्रमोट करने के लिए एक सही ढंग होना चाहिए। मैं अपनी तुरही आप नहीं बजा सकता। मुझे नहीं लगता यह सही है।” शोले स्टार ने कहा कि उनके बेटे सनी देओल भी ऐसा ही सोचते हैं। उन्होंने कहा, “सनी सोचते हैं बहुत ज़्यादा प्रमोशन करना यानि अपने मुंह मियां मिट्ठू बनना।”

पदमभूषण अवार्ड विजेता ने कहा कि पुराने समय से अब में बी टाउन में कई बदलाव आये हैं। उन्होंने कहा, “आज के एक्टर्स कॉंफिडेंट और स्मार्ट हैं। एक समय था जब हम बड़ो से कहानियां सुनते थे। उसमे बहुत अपनापन था जो अब मौजूद नहीं है। अब लोग बस काम की बात करते हैं, जब ज़रूरत होती है तभी वह आपसे बात करते हैं। मैं चाहता हूँ भविष्य में ऐसा ना रहे।” एक्टर ने आगे कहा, “फ़िल्ममेकर्स सच्ची घटनाओं को उठाते हैं और उन पर फ़िल्म बनाते हैं जो अच्छा है। जीवन की सच्ची कहानियों को लिखा जा रहा है जो बहुत अच्चा है। ऐसी कहानियां आपको छू जाती हैं।”

शाहरुख़ ने धर्मेन्द्र को अपनी फ़िल्मों को ठीक से प्रोमोट करने को कहा