शाहरुख खान की टेक्नो बस हुई 30,000 घंटे में तैयार

शाहरुख खान की लेटेस्ट ऐक्विज़िशन एक टेक्नो बस है, जिसे डीसी डिजाइन ने डिज़ाइन किया है, जो एक लीडिंग ऑटोमोबाइल डिजाइन स्टूडियो है। रिपोर्ट के मुताबी, इस बस को शाहरुख खान के लिए कस्टमाइज़ करने के लिए 30,000 घंटे लग गए। शाहरुख वास्तव में बॉलीवुड के किंग हैं।

शाहरुख खान की टेक्नो बस हुई 30,000 घंटे में तैयार

बस, जिसे एक वोल्वो की तर्ज पर बनाया गया है,  इसमें अन्य खासियतों के साथ ही, फ्यूचरिस्टिक असिमेट्रिकल इंटीरियर लाउंज सेक्शन, ड्राईवर केबिन, मास्टर बेड रूम, एलईडी से जलने वाला कांच का फर्श, हाई एंड ऑडियो और वीडियो उपकरण, पूरी तरह से सुसज्जित टॉयलेट और इंटीग्रेटेड मेकअप सेक्शन है। रिपोर्ट की माने तो, हैप्पी न्यू स्टार इसके बनाये जाने के हर कदम में शामिल किये गए थे। एक चीज़ जिस पर शाहरुख डिज़ाइनर्स का एक्स्ट्रा अटेंशन चाहते थे वह ऑडियो-वीडियो सिस्टम था। "कोई ऐसा जिसे उनके टेक्नो गैजेट से प्यार है, उनके लिए शाहरुख सबसे अच्छा ऑडियो / वीडियो सिस्टम उपलब्ध करना चाहते थे। हमने एक विशाल 65 " स्टेट ऑफ़ द आर्ट 4K स्क्रीन के साथ एक होम थिएटर सिस्टम के साथ बस को लैस किया है”, डिजाइनरों ने कहा।

शाहरुख खान की टेक्नो बस हुई 30,000 घंटे में तैयार

शाहरुख खान की टेक्नो बस हुई 30,000 घंटे में तैयार

डीसी डिजाइन के अनुसार, "बस में एक ड्राईवर केबिन है, मास्टर बेडरूम, पूरी तरह से सुसज्जित शौचालय, लाउन्ज में इंटीग्रेटेड मेकअप सेक्शन जिसमे फ्लोटिंग डिवाइडर है, 4 स्क्रीन और एक रिक्लाइनर मेकअप सेक्शन है।" दिलीप छाबड़िया, जिसने बस को डिज़ाइन किया था, ने एक स्टेटमेंट में कहा, “यह हमारे लिए एक चुनौती थी, कि पूरी बस को एस्थेटिक्स के साथ फंक्शनलीटी बिठाना क्योंकि आमतौर पर – जो अच्छा दिखता है वो फंक्शनल हो और जो फंक्शनल है वो अच्छा दिखे। लेकिन हमने सुनिश्चित किया कि मामला यह नहीं था क्योंकि आउटकम शानदार एस्थेटिक्स के साथ एक्सक्लूसिव प्रोडक्ट था और साथ में सुपर फंक्शनलिटी भी।”

शाहरुख खान की टेक्नो बस हुई 30,000 घंटे में तैयार
शाहरुख खान की टेक्नो बस हुई 30,000 घंटे में तैयार